16 प्रश्नों में पता चलेगा कितना है स्ट्रेस। लाल, पीली और हरे रंग से पता चलेगा स्ट्रेस लेवल
69
views

वर्कप्लेस पर स्ट्रेस होना एक कॉमन प्रोब्लम बनती जा रही है। लेकिन कई बार ये पक्ष इतना हावी हो जाता है कि नींद से लेकर कई तरह की बीमारियों को भी न्योता दे देता है। वर्किंग प्लेस की झझटें निजी जिंदगी पर भी इम्पेक्ट छोड़ने लगती है। लगातार व्यस्तता के चलते स्ट्रेस लोगों की जिंदगी का हिस्सा बन कर रह जाती है। इसके लिए ही अब इंडिया में स्ट्रेस मीजरमेट के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोलॉजिकल साइसेज ने TAWS 16 का ईजात किया है।

TAWS 16 में टोटल 16 क्वश्चन पूछे जाते हैं। जिनके जवाब के बिन्हा पर स्ट्रेस के तीन लेवल पर तय होता है। ग्रीन, येलो और रेड। अगर टेस्ट का रिजल्ट ग्रीन होता है वो सबसे बेहतर होता है, इसके बार येलो लेवल होता है और फिर रेड। रेड लेवल वाले लोगों को तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए, ऐसा बताया गया है। इसकी खासियत ये भी है कि इस क्वश्चनेर को करीब 5 मिनट में ही पूरा किया जा सकता है।

ये एप मोबाइल और वेब लिंक दोनों के माध्यम से इस्तेमाल किया जा सकता है और देश में इस एप का इस्तेमाल देश की करीब 10 संस्थाएं कर चुकी हैं। अब ये स्ट्रेस वर्क-लाइफ बैलेंस से रिलेटेड है या कोई और प्रोब्लम है। ये भी पता किया जा सकता है। टाइम लिमिट, मल्टीटॉस्किंग और सीनियर्स से हेल्प के बारे में भी पूछताछ इसमें शमिल है। इससे स्ट्रेस के साथ ही साथ मन और शरीर के लक्षणों से निपटने के लिए हर व्यक्ति की क्या क्षमता है, ये भी बताते है। इसके साथ ही स्ट्रेस के अलावा सिरदर्द, परेशानी और नींद के अनुभव के बारे में भी पता चलता है।

वैसे, 2019 में हुए एक स्टार्टअप सर्वे के मुताबिक, भारतीय कॉरपोरेट सेक्टर में हर पांच में से एक कर्मचारी वर्कप्लेस डिप्रेशन का शिकार है। ऐसे में ये ऐप स्ट्रेस मापने के लिए मददगार हो सकता है। डॉक्टर्स का मानना है कि स्ट्रैस से दिल से लेकर दिमाग तक कई तरह की प्रॉब्लम्स हो सकती हैं।

Comment

https://manchh.org/assets/images/user-avatar-s.jpg

0 comment

Write the first comment for this!